अध्याय 15 राष्ट्रीय आय से संबंधित समुच्चय

ARTS, अर्थशास्त्र, CLASS 12, COMMERCE

अध्याय 15 राष्ट्रीय आय से संबंधित समुच्चय

प्रश्न 1 आर्थिक वृद्धि की गणना के लिए राष्ट्रीय आय का सबसे पहले प्रयोग किसने और कब किया ?
उत्तर प्रोफेसर साइमन कुजनेट्स में 1934 में इसका प्रयोग किया।
प्रश्न 2 आर्थिक वृद्धि की गणना के लिए किसका प्रयोग किया जाता है ?
उत्तर आर्थिक वृद्धि की गणना के लिए राष्ट्रीय आय का प्रयोग किया जाता है।
प्रश्न 3 स्वतंत्रता से पूर्व भारत में राष्ट्रीय आय के अनुमान किन-किन विद्वानों द्वारा लगाए गए ?
उत्तर स्वतंत्रता से पूर्व भारत में राष्ट्रीय आय के अनुमान दादाभाई नौरोजी, विलियम डिग्बी, फिण्डले सिराज, शाह व खम्भर, डॉ.वी. के. आर. वी. राव, सी. आर. देसाई आदि विद्वानों द्वारा लगाए गए।
प्रश्न 4 स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद राष्ट्रीय आय के अनुमान के लिए किसका गठन किया गया ?
उत्तर स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद राष्ट्रीय आय के अनुमान के लिए राष्ट्रीय आय समिति गठन किया गया।
प्रश्न 5 राष्ट्रीय आय समिति का गठन कब किया गया ?
उत्तर राष्ट्रीय आय समिति का गठन 1949 में किया गया।
प्रश्न 6 राष्ट्रीय आय समिति के सदस्य सलाहकार कौन थे ?
उत्तर राष्ट्रीय आय समिति के सदस्य सलाहकार प्रोफेसर साइमन कुजनेट्स थे ।
प्रश्न 7 राष्ट्रीय आय समिति के अध्यक्ष कौन थे ?
उत्तर राष्ट्रीय आय समिति के अध्यक्ष प्रोफेसर प्रफुल्ल चंद्र महलनोबिस थे।
प्रश्न 8 भारत की राष्ट्रीय आय के अनुमानों का प्रकाशन प्रतिवर्ष किसके द्वारा किया जाता है ?
उत्तर भारत की राष्ट्रीय आय के अनुमानों का प्रकाशन प्रतिवर्ष केंद्रीय सांख्यिकीय संगठन (CSO)द्वारा किया जाता है।

प्रश्न 9 भारत की राष्ट्रीय आय का प्रकाशन कब से प्रारंभ हुआ ?
उत्तर भारत की राष्ट्रीय आय का प्रकाशन 1956 से प्रारंभ हुआ।
प्रश्न 10 मार्शल के अनुसार राष्ट्रीय आय की परिभाषा बताइए।
उत्तर मार्शल के अनुसार, “किसी एक देश का श्रम तथा पूंजी उसके प्राकृतिक साधनों पर क्रियाशील होकर प्रतिवर्ष भौतिक वस्तुओं व अभौतिक वस्तुओं का एक शुद्ध योगफल पैदा करता है जिसमें सभी प्रकार की सेवाएं सम्मिलित होती है। यही उस देश की वास्तविक शुद्ध वार्षिक आय या देश का राजस्व या राष्ट्रीय लाभांश है।”
प्रश्न 11 पीगू के द्वारा राष्ट्रीय आय की परिभाषा बताइए ।
उत्तर पीगू के अनुसार, “राष्ट्रीय आय समाज की वस्तुपरक आय का वह भाग है जो कि मुद्रा में मापा जा सकता है और इसमें विदेशों से प्राप्त आय भी सम्मिलित होती है।”
प्रश्न 12 फिशर के द्वारा राष्ट्रीय आय की परिभाषा बताइए ।
उत्तर फिशर के अनुसार, “राष्ट्रीय लाभांश अथवा आय में केवल अंतिम उपभोक्ताओं द्वारा प्राप्त सेवाएं सम्मिलित होती है, चाहे वे भौतिक या मानवीय वातावरण से प्राप्त हो। इस प्रकार एक पियानो या ओवरकोट जो मेरे लिए इस वर्ष मनाया गया है, इस वर्ष की आय का भाग नहीं है वरन् पूंजी में वृद्धि है। केवल इन वस्तुओं द्वारा मेरे लिए इस वर्ष की गई सेवाएं ही आय हैं।”
प्रश्न 13 साइमन कुजनेट्स के अनुसार राष्ट्रीय आय की परिभाषा बताइए ।
उत्तर साइमन कुजनेट्स के अनुसार, “राष्ट्रीय आय वस्तुओं व सेवाओं का वह शुद्ध उत्पादन है जो एक वर्ष की अवधि में देश की उत्पादन प्रणाली से अंतिम उपभोक्ताओं के हाथों में पहुंचता है।”
प्रश्न 14 राष्ट्रीय आय का प्रवाह किसे कहते हैं ?
उत्तर एक वित्तीय वर्ष की अवधि में देश में निवासियों द्वारा उत्पादित अंतिम उपभोक्ता वस्तुओं और सेवाओं की शुद्ध मात्रा के प्रचलित बाजार कीमत पर उस देश की मुद्रा में व्यक्त मूल्यों के योग को राष्ट्रीय आय का प्रवाह कहते हैं।
प्रश्न 15 अंतिम उपभोग्य वस्तुओं से आपका क्या अभिप्राय है ?
उत्तर अंतिम उपभोक्ता वस्तुओं और सेवाओं का अभिप्राय उन वस्तुओं और सेवाओं से होता है जिनका उपभोग एक उपभोक्ता अथवा एक उत्पादक द्वारा किया जाता है।
प्रश्न 16 मार्शल ने राष्ट्रीय आय को किस रूप में परिभाषित किया है ?
उत्तर मार्शल ने एक देश में एक वर्ष की समय अवधि में राष्ट्रीय आय को भौतिक वस्तुओं व अभौतिक वस्तुओं के शुद्ध उत्पादन के योग के रूप में परिभाषित किया है।

प्रश्न 17 पीगू ने राष्ट्रीय आय को किस रूप में परिभाषित किया ?
उत्तर पीगू ने राष्ट्रीय आय को उत्पादन के मुद्रा में मापनीय मूल्य के योग के रूप में परिभाषित किया है।
प्रश्न 18 फिशर ने राष्ट्रीय आय को किस रूप में परिभाषित किया ?
उत्तर फिशर ने राष्ट्रीय आय को एक वर्ष की समय अवधि में भौतिक वस्तुओं व अभौतिक वस्तुओं के शुद्ध उत्पादन में से वह भाग जिसे सेवा के रूप में प्राप्त किया गया को राष्ट्रीय आय माना है।
प्रश्न 19 राष्ट्रीय आय की विशेषताएं बताइए
उत्तर राष्ट्रीय आय की विशेषताएं निम्नलिखित हैं – 1 राष्ट्रीय आय का संबंध एक देश की अर्थव्यवस्था से होता है।
2 राष्ट्रीय आय का संबंध एक निश्चित अवधि जो सामान्यतः एक वित्तीय वर्ष की होती है, भारत में 1 अप्रैल से अगले वर्ष के 31 मार्च तक।
3 राष्ट्रीय आय का संबंध एक देश के निवासियों की आर्थिक क्रियाओं से होता है किंतु वर्तमान में देश के भौगोलिक क्षेत्र में निवासियों और गैर निवासियों की आर्थिक क्रियाओं का अध्ययन भी इसमें शामिल होता है।
4 राष्ट्रीय आय का संबंध उत्पादक आर्थिक क्रियाओं से होता है अर्थात इसमें अनुत्पादक क्रियाओं को सम्मिलित नहीं किया जाता है।
5 राष्ट्रीय आय की गणना का संबंध अंतिम उपभोग्य वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन से होता है अर्थात इसमें अंतरिम वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन को सम्मिलित नहीं किया जाता है।
6 राष्ट्रीय आय की गणना प्रचलित बाजार कीमत पर की जाती हैं।
7 राष्ट्रीय आय की गणना देश की मुद्रा में व्यक्त की जाती है।
8 राष्ट्रीय आय की गणना विभिन्न वस्तुओं और सेवाओं के मूल्यों का योग होती है।
9 राष्ट्रीय आय एक प्रकार का प्रवाह होता है तथा यह एक प्रकार का भंडार नहीं होता है।
10 राष्ट्रीय आय की गणना शुद्ध मात्रा के अनुसार की जाती है अर्थात इसमें से घिसावट को घटाया जाता है।
प्रश्न 20 राष्ट्रीय आय की गणना किन आधारों पर की जाती है ?
उत्तर राष्ट्रीय आय की गणना दो आधारों पर की जाती है – (1)भौगोलिक आधार पर (2) राजनीतिक आधार पर।
प्रश्न 21 भौगोलिक आधार पर राष्ट्रीय आय की गणना कैसे की जाती है ?
उत्तर भौगोलिक आधार पर राष्ट्रीय आय की गणना करने हेतु एक देश की भौगोलिक सीमाओं के आधार पर अध्ययन किया जाता है।
प्रश्न 22 राजनीतिक आधार पर राष्ट्रीय आय की गणना कैसे की जाती है ?
उत्तर राष्ट्रीय आय की गणना राजनीतिक आधार पर करने के लिए देश की नागरिकता के आधार पर विचार करते हैं।

प्रश्न 23 सकल घरेलू उत्पाद किसे कहते हैं ?
उत्तर एक देश की भौगोलिक सीमा के भीतर देश के निवासियों एवं विदेशी निवासियों द्वारा किया गया उत्पादन सकल घरेलू उत्पाद कहलाता है।
प्रश्न 24 सकल राष्ट्रीय उत्पाद किसे कहते हैं ?
उत्तर एक देश के निवासियों द्वारा अपने देश मे तथा विदेशों किए गए उत्पादन को सकल राष्ट्रीय उत्पाद कहते है।
प्रश्न 25 GDP किसे कहते हैं ?
उत्तर सकल घरेलू उत्पाद को GDP कहते हैं।
प्रश्न 26 GDP कैसे ज्ञात करते हैं ?
उत्तर एक देश मे उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं के बाजार मूल्य का योग करके GDP ज्ञात करते हैं।
प्रश्न 27 GNP कैसे ज्ञात करते हैं ?
उत्तर सकल घरेलू उत्पाद में विदेशों से प्राप्त शुद्ध साधन आय को जोड़कर GNP ज्ञात करते हैं।
प्रश्न 28 NDP MP कैसे ज्ञात करते हैं ?
उत्तर बाजार कीमत पर सकल घरेलू उत्पाद में से घिसावट को घटाकर NDP MP ज्ञात करते हैं।
प्रश्न 29 NDP FC कैसे ज्ञात की जाती है
उत्तर NDP MP में से अप्रत्यक्ष करों को घटाकर और अनुदानों को जोड़कर NDP FC ज्ञात करते हैं।
प्रश्न 30 निजी आय (PI)कैसे ज्ञात की जाती हैं
उत्तर निजी आय (PI)= (NNP FC) +TP + IPD -CSS – PPU सूत्र की सहायता से ज्ञात की जाती है।
प्रश्न 31 व्यक्तिगत आय क्या होती हैं ?
उत्तर व्यक्तिगत आय उन सभी आय का योग होती है जो वास्तव में व्यक्तियों अथवा घरेलू क्षेत्र द्वारा प्राप्त होती है।

प्रश्न 32 सकल राष्ट्रीय उत्पाद में किन तत्वों को शामिल किया जाता है ?
उत्तर सकल राष्ट्रीय उत्पाद में निम्नलिखित तत्वों को शामिल किया जाता है – C,I,G,NFIA,(X-M)।
प्रश्न 33 GDP MP ज्ञात करने का सूत्र लिखिए ।
उत्तर GDP MP = C+I+G+(X-M)
प्रश्न 34 NDP MP ज्ञात करने का सूत्र लिखिए
उत्तर NDP MP = GDP MP – D
प्रश्न 35 NNP FC ज्ञात करने का सूत्र लिखिए
उत्तर NNP FC = NNP MP – IT + S
प्रश्न 36 GNP MP ज्ञात करने का सूत्र लिखिए।
उत्तर GNP MP = C+I+G+NFIA+(X-M)
प्रश्न 37 NFIA क्या होता है ?
उत्तर विदेशों से प्राप्त शुद्ध साधन आय को NFIA कहते हैं।
प्रश्न 38 शुद्ध निर्यात किसे कहते हैं ?
उत्तर घरेलू निर्यातों के मूल्य में से विदेशी आयातो के मूल्य को घटाने पर शेष मूल्य शुद्ध निर्यात कहलाता है। जिसे (X-M) द्वारा दर्शाया जाता है।
प्रश्न 39 NNP MP ज्ञात करने का सूत्र लिखिए।
उत्तर NNP MP = GNP MP – D
प्रश्न 40 NNP FC क्या होता है ?
उत्तर एक देश में उत्पादित होने वाले वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन के लिए साधनों पर किया गया व्यय साधन लागत पर शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद कहलाता है। जिसे NNP FC कहते हैं।

प्रश्न 41 निम्नलिखित शब्दों का पूरा नाम बताइए।
उत्तर CSO – केंद्रीय सांख्यिकीय संगठन
GDP – सकल घरेलू उत्पाद
NDP – शुद्ध घरेलू उत्पाद
GNP – सकल राष्ट्रीय उत्पाद
NNP – शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद
PDI – प्रति व्यक्ति खर्च योग्य आय
PCI – प्रति व्यक्ति राष्ट्रीय आय
NTEW – शेष विश्व से शुद्ध हस्तांतरण आय।
प्रश्न 42 हस्तांतरण भुगतान किसे कहते हैं
उत्तर हस्तांतरण भुगतान वे भुगतान होते हैं जो किसी सेवा के एवज में नहीं दिए जाते, अपितु सामाजिक सुरक्षा के तहत कमजोर वर्ग को सरकार की ओर से प्रदान किए जाते हैं। जैसे पेंशन बेरोजगारी भत्ता इत्यादि।
प्रश्न 43 व्यक्तिगत खर्च योग्य आय से आप क्या समझते हैं ?
उत्तर एक व्यक्ति की व्यक्तिगत आय में से व्यक्तियों के आयकर, व्यक्तियों की फीस, जुर्माने आदि घटाने पर बची शेष राशि व्यक्ति की खर्च योग्य आय कहलाती है।
प्रश्न 44 व्यक्तिगत खर्च योग्य आय ज्ञात करने का सूत्र लिखिए।
उत्तर व्यक्तिगत खर्च योग्य आय = व्यक्तिगत आय -(व्यक्तियों के आयकर) – (व्यक्तियों की फीस जुर्माने)
प्रश्न 45 प्रति व्यक्ति राष्ट्रीय आय क्या होती है ?
उत्तर राष्ट्रीय आय में देश की जनसंख्या का भाग देने पर प्राप्त भागफल प्रति व्यक्ति राष्ट्रीय आय कहलाता है।
प्रश्न 46 राष्ट्रीय खर्च योग्य आय (NDI) ज्ञात करने का सूत्र बताइए ?
उत्तर NDI=NI+ NIT+ NTEW
प्रश्न 47 NTEW से आप क्या समझते हैं ?
उत्तर NTEW से तात्पर्य शेष विश्व से शुद्ध हस्तांतरण आय होता है।
प्रश्न 48 राष्ट्रीय आय की माप में क्या क्या कठिनाइयां आती हैं?
उत्तर राष्ट्रीय आय को माप करते समय विभिन्न प्रकार की कठिनाई आती हैं जिनमें से प्रमुख निम्न प्रकार हैं- 1 स्वयं के रोजगार से प्राप्त आय की गणना कठिन कार्य है।
2 पुरानी, अंतरिम व मध्यवर्ती वस्तुओं के मूल्यांकन की कठिनाइयां।
3 अंशपत्र व ऋणपत्रों के बाजार के लेनदेन केवल कागजी क्रियाएं होने से राष्ट्रीय आय में नहीं गिनी जाती हैं।
4 गैर कानूनी क्रियाएं व काला बाजार की आर्थिक क्रियाएं भी सैद्धांतिक कठिनाइयां पैदा करती हैं।
5 आराम के लिए अवकाश इत्यादि गणना कठिन कार्य है।

प्रश्न 49 कृषि एवं पशुपालन के समुचित विकास की रणनीतियां किसके आधार पर बनाई जाती हैं ?
उत्तर राष्ट्रीय आय के आंकड़ों के आधार पर कृषि और पशुपालन के समुचित विकास की रणनीतियां बनाई जाती हैं।
प्रश्न 50 प्रत्येक देश अपने उद्योग व्यापार एवं वाणिज्य क्रियाओं के विस्तार का मूल्यांकन किसके आधार पर करता है ?
उत्तर राष्ट्रीय आय के आधार पर।