परिवर्तनशील अनुपातों का नियम

अर्थशास्त्र

परिवर्तनशील अनुपातों का नियम

1.जब तक MP में वृद्धि होती है , तब तक T P में बढ़ती दर से वृद्धि होती है।
2. जिस बिंदु पर MP गिरने लगता है, वह मोड़ का बिंदु होता है।
3. जहां से MP घटने लगता है,( मोड़ बिंदु से) वहां से कुल उत्पादन में घटती हुई दर से वृद्धि होने लगती हैं।
4. जहां MP को ऊपर से नीचे की ओर काटता है, वहां A P अधिकतम होता है।
5. जहां AP अधिकतम होता है, वहां प्रथम चरण समाप्त हो जाता है ,और द्वितीय चरण प्रारंभ होता है।
6. जब तक MP घटकर शून्य नहीं हो जाता है, तब तक TP में वृद्धि जारी रहती है ।
7.जहां से AP घटने लगता है, और जहां पर MP शून्य हो जाता है , वहां तक द्वितीय अवस्था रहती है।
8.जहां से MP. ऋणात्मक हो जाता है , वहां से T P में कमी शुरू हो जाती है।
9. जहां से TP गिरने लगता है, वहां से तृतीय चरण प्रारंभ हो जाता है।
10. तृतीय चरण में MP ऋणात्मक तथा TP गिरता हुआ होता है।

कक्षा 12 व्यष्टि अर्थशास्त्र महत्वपूर्ण प्रश्न

parivartanasheel anupaaton ka niyam

1.jab tak mp mein vrddhi hotee hai , tab tak t p mein badhatee dar se vrddhi hotee hai. 2. jis bindu par mp girane lagata hai, vah mod ka bindu hota hai. 3. jahaan se mp ghatane lagata hai,( mod bindu se) vahaan se kul utpaadan mein ghatatee huee dar se vrddhi hone lagatee hain. 4. jahaan mp ko oopar se neeche kee or kaatata hai, vahaan a p adhikatam hota hai. 5. jahaan ap adhikatam hota hai, vahaan pratham charan samaapt ho jaata hai ,aur dviteey charan praarambh hota hai. 6. jab tak mp ghatakar shoony nahin ho jaata hai, tab tak tp mein vrddhi jaaree rahatee hai . 7.jahaan se ap ghatane lagata hai, aur jahaan par mp shoony ho jaata hai , vahaan tak dviteey avastha rahatee hai. 8.jahaan se mp. rnaatmak ho jaata hai , vahaan se t p mein kamee shuroo ho jaatee hai. 9. jahaan se tp girane lagata hai, vahaan se trteey charan praarambh ho jaata hai. 10. trteey charan mein mp rnaatmak tatha tp girata hua hota hai.