माल एवं सेवा कर व्यवसाय अध्ययन

माल एवं सेवा कर -व्यवसाय अध्ययन

CLASS 12, COMMERCE

व्यवसाय अध्ययन- माल एवं सेवा कर जीएसटी

माल एवं सेवा कर व्यवसाय अध्ययन

माल एवं सेवा कर -व्यवसाय अध्ययन प्रश्न 1. जी. एस. टी. लागू किए जाने का मार्ग कब प्रशस्त हुआ?
उत्तर 1 अप्रैल 2017
प्रश्न 2. नमक उत्पादन शुल्क कौन सी शताब्दी में किसके द्वारा लगाया गया ?
उत्तर 19वीं शताब्दी में अंग्रेजों द्वारा।
प्रश्न 3. केंद्रीय उत्पाद शुल्क व नमक अधिनियम कब पारित हुआ?
उत्तर 1944 में।
प्रश्न 4. मोटर स्पिरिड पर उत्पाद शुल्क कब लगाया गया?
उत्तर 1917 में ।
प्रश्न 5. केरोसिन पर उत्पाद शुल्क कब लगाया गया?
उत्तर 1922 में ।
प्रश्न 6. भारत में वस्तु के क्रय – विक्रय पर विक्रय कर लगाने का अधिकार किस अधिनियम से प्राप्त हुआ?
उत्तर भारत सरकार अधिनियम , 1935 से ।
प्रश्न 7. सर्वप्रथम विक्रय कर कब व कहां लागू हुआ ?
उत्तर 1938 में, मध्य प्रदेश में लागू किया गया।
प्रश्न 8. भारत में सेवा कर की शुरुआत कब हुई ?
उत्तर 1 जुलाई 1994 को।
प्रश्न 9. जांच समिति की स्थापना किसकी अध्यक्षता में, व कब की गई?
उत्तर डॉ. जॉन मथाई की अध्यक्षता में, 1953 में की गई।
प्रश्न 10. सेवा कर प्रथम बार कब व किस पर लगाया गया।
उत्तर सन् 1994 में वित्त अधिनियम, 1954 के द्वारा दूरसंचार , सामान्य बीमा, व शेयर दलाली पर सेवा कर लगाया गया।


प्रश्न 11. व्यापार व व्यापारी दिशाहीन क्यों हो गए ?
उत्तर देश में करो की संख्या केंद्र सरकार , राज्य सरकार व स्थानीय सत्ता द्वारा अलग-अलग करारोपण से अधिक होने के कारण व्यापार व व्यापारी दिशाहीन हो गए।
प्रश्न 12. एकल कर लगाना आसान क्यों नहीं था?
उत्तर क्योंकि केंद्र व राज्य सरकार के बीच इस हेतु (एकल कर हेतु) सामंजस्य स्थापित नहीं हो पा रहा था ।
प्रश्न 13. माल एवं सेवा कर क्या है?
उत्तर यह एक अप्रत्यक्ष कर है, जो माल के उत्पादक एवं विक्रेता पर समान रूप से लगाया जाता है । यह कर माल एवं सेवा दोनों पर लगता है।
प्रश्न 14. वर्तमान में कितने प्रकार के कर है ?
उत्तर वर्तमान कर प्रणाली में तीन प्रकार के कर है :–
1. उत्पाद शुल्क , 2. सेवा कर, 3. राज्य वैट ।

प्रश्न 15. देश के व्यापारियों पर तीनों करों के मिलने से क्या फर्क पड़ेगा ?
उत्तर देश में व्यापारियों की संख्या सर्वाधिक है, जिन्हें केवल वैट चुकाना होता है। इन्हें उत्पाद एवं सेवा कर से कोई लेना – देना नहीं होता है। इस कारण इन पर तीनों कर एक होने पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।
प्रश्न 16. जी.एस.टी. में कौनसे कर वसूल करने होंगे?
उत्तर स्टेट जी.एस.टी. व सेंट्रल जी.एस.टी.।

प्रश्न 17. जी.एस.टी. में कौनसे इनपुट कर होंगे?
उत्तर जी.एस.टी. में सी जीएसटी , एस जीएसटी, व आई जीएसटी तीन इनपुट कर होंगे ।
प्रश्न 18. आई जीएसटी में कैसी बिक्री पर वसूली होगी?
उत्तर अंतरर्राज्यीय बिक्री पर ।

प्रश्न 19. जीएसटी की दो विशेषता बताइए ?
उत्तर 1.यह बिक्री के स्थान के आधार पर लगने वाला कर है।
2. यह बिक्री के प्रत्येक स्तर पर लगाया जाएगा ।
प्रश्न 20. सेंट्रल जीएसटी किस सरकार द्वारा वसूला जाएगा ?
उत्तर केंद्र सरकार द्वारा।



प्रश्न 21. एस जीएसटी किसके द्वारा वसूला जाएगा?
उत्तर राज्यों द्वारा।
प्रश्न 22. आई जीएसटी कब लगेगा?
उत्तर जब राज्य के बाहर से माल का आयात होगा , तब आई जीएसटी लगेगा ।
प्रश्न 23. आई.जीएसटी किसके द्वारा वसूला जाएगा?
उत्तर केंद्र सरकार द्वारा ।

प्रश्न 24. वस्तुओं के वर्गीकरण के लिए कौन सा कोड इस्तेमाल किया जाएगा?
उत्तर एच.एस.एन.( Harmonized system of Nomen clature )
प्रश्न 25. जी.एस.टी. का पूरा नाम लिखो ?
उत्तर G.S.T. (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) goods and service tax।

माल एवं सेवा कर -व्यवसाय अध्ययन

प्रश्न 26. यदि व्यापारी राज्य के भीतर माल की खरीद करता है, तो कौनसा कर चुकाना पड़ता है?
उत्तर सी जीएसटी तथा एस जीएसटी कर।
प्रश्न 27. जॉब वर्क किसे कहते हैं?
उत्तर कई उत्पादन इकाइयां उत्पादन से संबंधित कई कार्य दूसरे उत्पादनों से कराते हैं , जिसे जॉब वर्क कहते हैं।
प्रश्न 28. जॉब वर्क के उदाहरण दीजिए ?
उत्तर इंजीनियरिंग इकाइयाँ , मशीनिंग , ड्रिलिंग, वेल्डिंग, पेंटिंग आदि।
प्रश्न 29. “एफ” फर्म क्या है ?



उत्तर जॉब वर्क माल भेजने वाले एवं माल प्राप्त करने वालों के बीच आदान-प्रदान का कार्य “एफ” फर्म करती है।
प्रश्न 30. जॉब वर्क के लिए किस धारा का प्रावधान किया है?
उत्तर धारा 43 ए।
प्रश्न 31. जॉब वर्क में कौन सा शुल्क देय नहीं होता है?
उत्तर उत्पादन शुल्क।
प्रश्न 32. सी.जीएसटी व एस.जीएसटी का ढांचा कैसा होगा?
उत्तर जीएसटी की धारा के अनुसार , सी जीएसटी व एस जीएसटी का प्रशासनिक ढांचा अलग अलग होगा।
प्रश्न 33. सेवा कर विभाग का नाम बदलकर क्या रखा गया ?
उत्तर केंद्रीय गुड्स एवं सर्विस टैक्स विभाग ।
प्रश्न 34. केंद्रीय गुड्स एवं सर्विस टैक्स विभाग किसके अधीन होगा?
उत्तर केंद्र सरकार के अधीन।
प्रश्न 35. केंद्र सरकार के अधीन किन-किन कार्यों को शामिल किया गया?
उत्तर 1. सभी व्यवहारियों से सी जीएसटी व आई जीएसटी से संबंधित कार्यों को देखा जाता है।
2. उनका निर्धारण किया जाता है ।
3. टैक्स की वसूली जाती है।
4. रिफंड जारी किया जाता है।
प्रश्न 36. एस जीएसटी से संबंधित कार्य किसके द्वारा किए जाते हैं?
उत्तर राज्य में स्थित वाणिज्यिक कर विभाग द्वारा ।
प्रश्न 37. जीएसटी पंजीकरण किस पर आधारित होगा?
उत्तर पैन कार्ड नंबर पर।
प्रश्न 38. जीएसटी नंबर कितनी संख्या में होगा?
उत्तर 15 नबंर में।
प्रश्न 39. व्यवहारीयों को किस जीएसटी के तहत पंजीकृत किया जाता है ?




उत्तर राज्य जीएसटी के तहत।
प्रश्न 40. एन. एस. डी. एल. ( NSDL) का पूरा नाम क्या है?
उत्तर राष्ट्रीय प्रतिभूति डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL)।
प्रश्न 41. जीएसटी पोर्टल आवेदन के साथ लगने वाले दस्तावेजों की सूचनाएं किसे भेजता है?
उत्तर केंद्र / राज्य अधिकारीणी को भेजेगा।
प्रश्न 42. केंद्र राज्य के न्यायिक अधिकारी जीएसटी पोर्टल की जांच कितने समय में करके देंगे?
उत्तर 3 दिन में ।
प्रश्न 43. जीएसटी पोर्टल पंजीकरण प्रमाण – पत्र कब जारी कर देगा?
उत्तर जब आवेदन के साथ दी गई सूचनाएं सही पाई जाती है , तो जीएसटी पोर्टल पंजीकरण प्रमाण पत्र जारी कर देगा। यदि सूचना में कमी पाई जाती है , तो आवेदक को अधिकारी सीधे ही या कॉमन पोर्टल के जरिए इसकी जानकारी देगा।
प्रश्न 44. जीएसटी पोर्टल पंजीकरण के आवेदन की जांच कौन से विभाग करेंगे? आवेदन में कमी की जानकारी किसे व किसके द्वारा देते हैं?
उत्तर राज्य एवं केंद्र दोनों विभाग पंजीकरण के आवेदन की जांच करेंगे। केंद्र का अधिकारी आवेदन की कमी को राज्य विभाग में भेजता है, तथा राज्य का अधिकारी आवेदन की कमी को केंद्र विभाग को देता है।
प्रश्न 45. व्यापारियों को वैट व उत्पादन शुल्क तथा सर्विस कर की रिटर्न कितने माह में भरनी होती है?
उत्तर व्यापारियों को वैट एवं उत्पादन शुल्क की रिटर्न 3 माह में तथा सर्विस कर की रिटर्न 6 माह में भरनी होती है।
प्रश्न 46. बिक्री के विवरण की जानकारी कब प्रस्तुत करनी होगी ?
उत्तर बिक्री की विवरण की जानकारी माह की समाप्ति से 10 दिन के भीतर प्रस्तुत करनी होगी।
प्रश्न 47. बिक्री के विवरण में क्या – क्या सूचना / जानकारी देनी होगी ?
उत्तर बिक्री के विवरण में माह के दौरान माल की बिक्री या दी गई सेवा की जानकारी इस रिटर्न में देनी होगी। इस रिटर्न में शून्य दर पर की गई बिक्री, अंतरर्राज्यीय बिक्री, क्रय वापसी , देश के बाहर निर्यात , डेबिट नोट , क्रेडिट नोट आदि सभी जानकारी शामिल करनी होगी।
प्रश्न 48. धारा ’26’ में क्रेता को क्या सुविधा / मौका दिया जाता है?
उत्तर धारा ’26’ में क्रेता द्वारा पेश की गई जानकारी को रिटर्न से मैच किया जाएगा, तथा यदि कोई मिस मैच होता है, तो व्यवहारी को इसे ठीक करने का मौका दिया जाता है ।
प्रश्न 49. खरीद के विवरण की जानकारी कब प्रस्तुत करनी होगी?
उत्तर माह के दौरान खरीदे गए माल व प्राप्त की गई सेवाओं की जानकारी माह की समाप्ति से 15 दिन के भीतर प्रस्तुत करनी होगी।
प्रश्न 50. कैसी संस्थाओं को सेवाओं की जानकारी अलग से देनी होगी?
उत्तर ऐसी संस्थाएँ जिन पर रिचार्ज के तहत सेवा प्राप्त कर्ता को सेवा कर जमा कराना है । उन संस्थाओं को सेवाओं की जानकारी अलग से देनी होगी।
प्रश्न 51. खरीद के विवरण की जानकारी किस धारा में प्रस्तुत करनी होगी?
उत्तर धारा ’25’ में बिक्री के विवरण से मिलान किया जाएगा।
प्रश्न 52. मासिक विवरणी की जानकारी कब प्रस्तुत करनी होगी?
उत्तर बिक्री एवं खरीद का विवरण प्रस्तुत करने के पश्चात व्यवहारी को माह से 20 दिन के भीतर मासिक विवरणी ऑनलाइन प्रस्तुत करनी होगी।
प्रश्न 53. मासिक विवरणी में कौन सी जानकारी दी जाती है?
उत्तर मासिक विवरणी में खरीद एवं बिक्री की जानकारी के अतिरिक्त इनपुट कर जमा, चुकाए गए कर की जानकारी, तथा अन्य जानकारियां प्रस्तुत करनी होगी।
प्रश्न 54. विवरण प्रस्तुत करने से पूर्व देय कर जमा कराना आवश्यक क्यों होता है ?
उत्तर विवरण प्रस्तुत करने से पूर्व देय कर जमा कराना आवश्यक होता है। अन्यथा प्रस्तुत की गई विवरणी को अयोग्य करार दे दिया जाएगा ।
प्रश्न 55. माह में कोई खरीद तथा बिक्री नहीं होने पर विवरणी कैसी देनी होगी?




उत्तर माह में कोई खरीद – बिक्री नहीं होने पर भी शून्य विवरण प्रस्तुत करनी होगी ।
प्रश्न 56. विवरणी समय पर न भरने पर लेट फीस किस धारा का प्रावधान है?
उत्तर धारा 33 का।
प्रश्न 57. बिक्री एवं खरीद विवरण को समय पर प्रस्तुत करने पर कितनी लेट फीस लगाई जाती है?
उत्तर बिक्री एवं खरीद विवरण समय पर प्रस्तुत न करने पर ₹100 प्रतिदिन व अधिकतम ₹5000 पेनल्टी लगाई जा सकती है।

प्रश्न 58. वार्षिक विवरणी को समय पर प्रस्तुत न करने पर कितनी लेट फीस लगाई जाती है?
उत्तर वार्षिक विवरणी को देरी से प्रस्तुत करने पर ₹100 प्रतिदिन लगाई जा सकती हैं , व अधिकतम विक्रय राशि के 0.25% तक हो सकती है।
प्रश्न 59. बिक्री का विवरण, खरीद का विवरण व मासिक विवरण किस धारा में आता है ?
उत्तर बिक्री का विवरण धारा ’25’ , खरीद का विवरण धारा ’26’ , तथा मासिक विवरण धारा ’27’ में आता है।

कक्षा 12 अर्थशास्त्र NOTES

हिंदी में और अधिक नोट्स